Blogging क्या है और ब्लॉग्गिंग कैसे सुरु करे

नमस्कार दोस्तों कैसे है आप सभी, स्वागत है आपका आज के एक और नए पोस्ट में आज का हमारा विषय “Blog Meaning in Hindi” के बारे में होने वाला है. इस पोस्ट के माध्यम से मै आपको एक Blog और Blogging से संबंधित सभी जानकारी आपको देने की कोसिस करूँगा.

आपने कभी न कभी और किसी न किसी से “blog” या “weblog” नामक शब्द जरुर ही सुना होगा और आप शायद यही सोच रहे होंगे कि ब्लॉग्गिंग मतलब क्या होता है meaning of blogging in hindi या blogging meaning in hindi.

जब घर बैठे इन्टरनेट से पैसे कमाने की बात आती है तब आपको Blog या Blogging नाम का शब्द सुनने को जरुर ही मिलता होगा. आज इन्टरनेट पर हर जगह आपको इन्टरनेट से पैसे कमाने के बारे में बहुत सारे तरीके बताये जा रहे है. जिसमे आपको बताया जाता है की आप Blog या Blogging की मदद से घर बैठे हजारो लाखो रुपया कमा सकते है.

आज के इस टेक्नोलॉजी की दुनिया में बहुत सारे लोग Blog Website बनाकर Blogging शुरु करते है.

Statista के अनुसार अक्टूबर 2011 तक पूरी दुनिया भर में लगभग 18 करोड़ से भी ज्यादा Blog websites बनाये जा चुके थे. और एक अनुमान के मुताबिक Internet पर पूरी दुनिया को मिलाकर मौजूद Blog Websites की संख्या 45 करोड़ से भी बहुत ज्यादा हो चुकी है.

[adinserter block=”2″]

इन सभी Blog Websites पर हर महीने लगभग 70-80 करोड़ से भी ज्यादा पोस्ट लिख कर पब्लिश किया जाता है.

चलो आज इस पोस्ट के माध्यम से हम यह Clear करते हैं, जब मैं कॉलेज में था तब वहा मेरे साथ पढने वाले बहुत सारे लोग “Blogs” और “Blogging” के बारे बात किया करते थे, लेकिन तब मैं भी नहीं जानता था कि वास्तव में यह Blog Meaning In Hindi क्या होता है.

जब मै एक दिन खाली बैठा हुआ था तो सोचा की Blog के बारे में कुछ जाना जाये मैंने फटाफट अपने फ़ोन में गूगल क्रोम खोला और सर्च किया “Blog Meaning in Hindi” फिर वहा से उसके बारे में ढेर साडी जानकारी ली और फिर अपना ब्लॉग वेबसाइट बना लिया.

Table of Content

Blog Meaning ब्लॉग का मतलब क्या होगा है?

आसान शब्दों में Blog Meaning एक प्रकार की वेबसाइट होती है जिसके माध्यम से आप दुसरे लोगो की समस्याओ का समाधान कर सकते है. एक ब्लॉग वेबसाइट के माध्यम से आप दुसरे लोगो तक अपने विचारो, भावनाओ, ज्ञान अथवा किसी भी प्रकार की जानकारी को लोगो तक पंहुचाकर उनकी मदद कर सकते हो. और इन्ही महत्वपूर्ण जानकारी के साथ साथ आप उससे संबंधित इमेज, वीडियोज आदि को भी औरो के साथ साझा क्र सकते है. एक ब्लॉग वेबसाइट को पहले वेब ब्लॉग के नाम से जाता था. इसको आप डिजिटल डायरी भी कह सकते हो.

ब्लॉग पोस्ट क्या है? किसी एक ब्लॉग के अंदर के टेक्स्ट, इमेजेज अथवा वीडियोज के मेल को ब्लॉग पोस्ट कहा जाता है. ये ब्लॉग पोस्ट किसी भी प्रकार के हो सकते है. इनके अंदर किसी भी तरह की जानकारी हो सकती है.

[adinserter block=”1″]

किसी भी ब्लॉग पोस्ट को हम प्राइवेट भी रख सकते है जिससे कोई और उसे देख न सके. लेकिन इन्टरनेट पर मौजूद लगभग सभी ब्लॉग वेबसाइट सार्वजनिक होती है जिन्हें कोई भी कभी भी पढ़ सकता है.

किसी भी ब्लॉग वेबसाइट को एक व्यक्ति या फिर पूरी टीम के द्वारा चलाया जाता है. अब बड़ी बड़ी कंपनिया भी इन्टरनेट पर ब्लॉग्गिंग की दुनिया में कदम रख चुकी है और वे सभी अपनी ब्लॉग वेबसाइट पर हर रोज बहुत सारा कंटेंट शेयर करती है और टाइम तो टाइम अपने वेबसाइट को अपडेट करती रहती है. ये सभी कंपनिया इन सभी कामो को करने के लिए कई लोगो की पूरी टीम को काम पर रखती है.

किसी भी ब्लॉग वेबसाइट के पोस्ट के लिंक को सोशल मीडिया जैसे:- facebook, whatsapp, pinterest, और twitter आदि वेबसाइट पर भी शेयर किया जा सकता है.

लगभग सभी ब्लॉग वेबसाइट के पोस्ट के निचे एक कमेंट बॉक्स होता है जिसमे उस पोस्ट को पढने वाला उस पोस्ट के बारे में अपना राय साझा कर सकता है.

ब्लॉग या ब्लॉग्गिंग इतना पोपुलर हो चूका है की इसको एक बिज़नस के तरह देखा जाता है और बहुत सारे लोग इसमें अपना करियर भी बनाने लगे है.

[adinserter block=”3″]

ब्लॉग किसे कहते है Blog Meaning in Hindi

Blog Meaning in Hindi को ज्यादा अच्छे से समजने के लिए आपको कुछ पोपुलर लोगो की ब्लॉग को लेकर क्या राय है वे देखते है.

#1 विकिपेडिया के अनुसार Blog Meaning in Hindi:-

A blog is a discussion or informational website published on the World Wide Web consisting of discrete, often informal diary-style text entries (posts) – By Wikipedia

एक ब्लॉग वर्ल्ड वाइड वेब पर प्रकाशित एक चर्चा या सूचनात्मक वेबसाइट है जिसमें असतत, अक्सर अनौपचारिक डायरी-शैली पाठ प्रविष्टियाँ (पोस्ट) शामिल हैं।

#2 हॉवर्ड वेब ब्लॉग के द्वारा Blog Meaning in Hindi:-

A weblog is a hierarchy of text, images, media objects and data, arranged chronologically, that can be viewed in an HTML browser.A weblog post has three basic attributes: title, link and description. – By Haward WebBlog

एक वेबलॉग पाठ, चित्र, मीडिया ऑब्जेक्ट्स और डेटा का एक पदानुक्रम है, जिसे कालानुक्रमिक रूप से व्यवस्थित किया गया है, जिसे HTML ब्राउज़र में देखा जा सकता है। वेबलॉग पोस्ट में तीन मूल विशेषताएं हैं: शीर्षक, लिंक और विवरण।

[adinserter block=”2″]

#3 किताब फंडामेंटल ऑफ़ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के द्वारा Blog Meaning in Hindi :-

A Collection of Posts…short, informal, sometimes controversial, and sometimes deeply personal….with the freshest information at the top. – By Fundamental Of Information Technology

पोस्ट का एक संग्रह … संक्षिप्त, अनौपचारिक, कभी-कभी विवादास्पद, और कभी-कभी गहरा व्यक्तिगत … शीर्ष पर सबसे ताज़ा जानकारी के साथ।

Blogging का इतिहास क्या है – History of Blogging in Hindi

वर्ष 1994 :- अमेरिका में पढने वाले Justin Hall नामक एक छात्र ने पूरी दुनिया में सबसे पहले एक ब्लॉग वेबसाइट links.net बनाया था. इस ब्लॉग वेबसाइट में वो अपनी खुद की जिन्दगी से जुड़ी बाते लिखा करता था. जिसे अभी हम Personal Blog के नाम से जानते है. वे इसे एक डायरी के रूप में उपयोग करता था.

[adinserter block=”1″]

वर्ष 1997 :- Jorn Barge नामक एक व्यक्ति ने पहली बार “WebBlog” सब्द का प्रयोग किया था. वे एक ब्लॉग वेबसाइट Robot Wisdom के एडिटर थे.

वर्ष 1998 :- Bruce Ableson नामक एक कंप्यूटर प्रोग्रामर और वेब डेवलपर ने एक Open Diary का निर्माण किया. जिसे कोई भी यूजर पर्सनल डायरी की तरह उपयोग कर सकता था. Open Diary में उसने प्राइवेसी सेटिंग और उसके साथ साथ कमेंट सिस्टम को भी जोड़ा.

वर्ष 1999 :- Peter Merholz नामक एक व्यक्ति ने इस WebBlog शब्द को और छोटा करके सिर्फ Blog कर दिया और यही से Blog शब्द की सुरुवात हुई. ठीक इसी वर्ष Pyra Labs में पहला ब्लॉग्गिंग प्लेटफार्म बनाया जिसका नाम उन्होंने Blogger रखा जिसपर लोग बिना किसी कोडिंग की नॉलेज के ब्लॉग वेबसाइट बनाकर उसपर ब्लॉग लिख सकते थे.

वर्ष 2003 :- गूगल कम्पनी ने Blogger और Adsense को खरीद लिया. इसी वर्ष Matt Mullenweg ने WordPress को लांच किया जो की आज पूरी दुनिया का सबसे बड़ा ब्लॉग्गिंग प्लेटफार्म है.

वर्ष 2007 :- इस वर्ष ब्लॉग्गिंग के लिए एक और प्लेटफार्म Tumblr का जन्म हुआ जिसने मिक्रोब्लोग्गिंग नामक सब्द को जन्म दिया. अब लोग अपने ब्लॉग में सिर्फ टेक्सट नही बल्कि उसके साथ साथ इमेजेज, वीडियोस, GIFs आदि भी शेयर क्र सकते थे. यहाँ तक की इसमें लोग SMS और E-Mail के माध्यम से भी पोस्ट पब्लिश क्र सकते थे. यह पूरी दुनिया का सबसे तेज़ गति से बढने वाला सोशल मीडिया प्लेटफार्म था. इसको वर्ष 2013 में Yahoo ने 1.1 बिलियन दोल्लोर्स में खरीद लिया.

वर्ष 2007 से अब तक :- अब ब्लॉग वेबसाइट का दायरा काफी आगे बढ़ गया है यह एक पर्सनल डायरी से निकल कर लगभग सभी बिज़नस का एक अहम हिस्सा बन गया है. अब तो बहुत सारे सोशल मीडिया प्लेटफार्म जैसे – फेसबुक, ट्विटर, इन्स्ताग्राम, और व्हात्सप्प आदि जिनके माध्यम से अब हम अपने ब्लॉग वेबसाइट को अधिक से अधिक लोगो तक पंहुचा सकते है.

[adinserter block=”2″]

Blog क्या होता है – What is Blog in Hindi

ब्लॉग की प्रक्रिया को ब्लॉग्गिंग कहते है.

नियमित रूप से किस विषय से सम्बंदित जानकारी को अपने ब्लॉग वेबसाइट और इन्टरनेट के माध्यम से किसी दुसरे लोगो तक पहुचने की क्रिया को Blogging कहते है.

ब्लॉग्गिंग क्यों करते है?

वैसे तो ब्लॉग बनाने या ब्लॉग्गिंग करने के कई सारे फायदा होता है लिकिन ज्यादातर लोग इन्टरनेट से पैसे कमाने के लिए ब्लॉग वेबसाइट को बनाते है या ब्लॉग्गिंग करते है लेकिन कई लोगो लोगो का उदेश्य दुसरो की मदद करना भी होता है वे दुसरो की मदद करने के लिए ब्लॉग्गिंग की सुरुवात करते है.

कौन कर सकता है Blogging?

ब्लॉग्गिंग करने के लिए आपको किसी भी तरह की विषेस योग्यता की कोई जरुरत नही पडती है. इसे कोई भी किसी भी वर्ग का व्यक्ति थोड़ा समय निकाल क्र आसानी से कर सकता है जैसे:-

  • स्कूल स्टूडेंट
  • कालेज स्टूडेंट
  • जॉब करने वाला कोई भी व्यक्ति
  • हाउस वाइफ

कोई भी वह व्यक्ति ब्लॉग्गिंग कर सकता है जिसके पास लिखने के लिए किसी न किसी विषय का नॉलेज है. बस उसे इन्टरनेट और ब्लॉग्गिंग के बारे में थोड़ी बहुत जानकारी होनी चाहिए.

[adinserter block=”1″]

ब्लॉग्गिंग करने के फायदे

आप अनुमान भी नही लगा सकते है की ब्लॉग बनाने के कितने सारे फायदे है. इन सभी फायदों में सबसे बड़ा फायदा है की इस काम में आप अपने खुद के बॉस होते है आप जब चाहो अपनी मर्जी से काम कर सकते हो और वो काम आप अपने लिए करोगे. आपको कोई आर्डर नही दे सकता है.

इन सब के अलावा भी ब्लॉग वेबसाइट बनाने के बहुत सारे फायदे है. और लोगो के ब्लॉग वेबसाइट बनाने के पीछे भी बहुत सारे उदेश्य हो सकते है. चलिए देखते है जैसे:

  • इसमें आपको किसी के अंडर रहकर काम नही करना पड़ता है यहाँ आप अपने खुद के मालिक होते है
  • ब्लॉग्गिंग करना नौकरी करने से कई ज्यादा बहतर है.
  • ब्लॉग्गिंग के माध्यम से आप अपने विचारो को व्यक्त कर सकते है.
  • आपके द्वारा दी गयी जानकारी किसी और के लिय हेल्पफुल होगी.
  • आप ब्लॉग्गिंग से कम काम करके बहुत ज्यादा पैसे कमा सकते है.
  • आप ब्लॉग्गिंग करते है तो आप पोपुलर होते जाते है.
  • ब्लॉग्गिंग में समय की बचत होती है इसके साथ साथ आप कोई और साइड बिज़नस भी कर सकते है.
  • ब्लॉग्गिंग के साथ साथ आपकी राइटिंग स्किल भी बढती है.
  • ब्लॉग्गिंग के साथ साथ आप एक बेहतर लेखक बन पाते है.
  • ब्लॉग्गिंग के माध्यम से आपका टेक्निकल नॉलेज बढ़ता है.
  • अगर आपका पहले से ही कोई बिज़नस है तो ब्लॉग्गिंग के माध्यम से अपने क्लाइंट्स या ग्राहक को बढ़ा सकते है.
  • आपके इस फील्ड में बहुत कुछ सिखने को मिलता है जैसे SEO और Affiliate Marketing आदि.
  • आप अपने ब्लॉग वेबसाइट पर कई सारे डिजिटल प्रोडक्ट को बेच भी सकते है जैसे- E-Books, Services आदि.

इसके अलावा भी ब्लॉग्गिंग करने के और भी कई बहुत सारे फायदे है.

Blogger किसे कहते है – Blogger Meaning in hindi

ब्लॉग वेबसाइट को बनाने वाले और उस पर कंटेंट लिख कर अपलोड करने वाले को ब्लॉगर (Blogger Meaning in Hindi) कहा जाता है.

जो व्यक्ति किस भी चीज से रिलेटेड अपनी जानकारी को अपने ब्लॉग वेबसाइट के माध्यम से इन्टरनेट पर प्रकाशित करता है उसे Blogger कहते है.

Blogger कितने प्रकार के होते है – Types of Blogger in Hindi

ब्लॉगर (Blogger Meaning in Hindi) कई प्रकार के होते है जिन्हें मुख्यतः 4 भागो में बाटा गया है:-

[adinserter block=”1″]

शौकिया ब्लॉगर:-

ऐसे लोग जो अपनी ब्लॉग्गिंग वेबसाइट पर अपनी होबी और पर्सनल लाइफ से संबंधित जानकारी शेयर करते है वे शौकिया ब्लॉगर कहलाते है. वे अपने ब्लॉग वेबसाइट पर उन्ही विषय से संबंधित बाते करते है जा जानकारी शेयर करते है जिसमें उनकी दिलचस्पी होती है. वे पैसो के लिए ब्लॉग्गिंग नही करते बस वो ये करके अपना सौक पूरा करते है. एक शौकिया ब्लॉगर (Blogger Meaning in Hindi) अपने वेबसाइट के कंटेंट पे ज्यादा ध्यान देता है और उसे और बेहतर बनाने की लगातार कोसिस करता है.

इस प्रकार की ब्लॉग्गिंग की खास बात यह है की लोग अपने ब्लॉग (Blog Meaning in Hindi) से ज्यादा समय तक जुड़े रहते है. चाहे उनकी उस ब्लॉग्गिंग वेबसाइट से इनकम हो या न हो वे कभी निराश नही होते है. क्योकि वे अपने पसंदीदा विषय पर लिख रहे होते है वे भी बिना किसी स्वार्थ के.

पार्ट टाइम ब्लॉगर :-

जॉब करने वाले युवक, स्कूल या कॉलेज जाने वाले छात्र या छात्राए, घर पर काम करने वाली महिलाएं भी अपने खाली समय में ब्लॉग (Blog Meaning in Hindi) लिख कर प्रकाशित यानि ब्लॉग्गिंग कर सकते है.

इसका फायदा यह है की आपका खाली समय जो हर दिन बेकार चला जा है उसका अच्छे से उपयोग होगा और बदले में आप कुछ पैसे भी कमा लोगे. हालंकि शुरु में ब्लॉग्गिंग से पैसे कमाना आसान नही होता है इसके लिए आपको काफी समय लगेगा.

लेकिन यदि आप तुरंत ही पैसे कमाना चाहते हो तो आप अपने खाली समय में किसी दुसरे ब्लॉगर (Blogger Meaning in Hindi) के वेबसाइट के लिए आर्टिकल लिखकर पैसे कमा सकते है.

फुल टाइम ब्लॉगर:-

कई सारे लोग ऐसे भी है जिनका आमदनी का मुख्य स्त्रोत उनका ब्लॉग (Blog Meaning in HIndi) वेबसाइट होता है. ऐसे लोग अपना पूरा समय ब्लॉग्गिंग में व्यतीत करते है. और लगातार अपने ऑडियंस के लिए बेस्ट क्वालिटी कंटेंट बनाते रहते है.

उनकी साईट पर धिरे-धीरे ट्रैफिक बढ़ता ही जाता है और फिर वे विज्ञापन और अलग अलग तरीको से इनकम करते है.

प्रोफेशनल ब्लॉगर :-

ये भी फुल टाइम ब्लॉगर (Blogger Meaning in Hindi) होते है और ये किसी बड़ी कम्पनी या ऑर्गनाइजेशन के लिए काम करते है. और इनका मुख्य काम उस कम्पनी के ब्रांड को ज्यादा से ज्यादा प्रमोट करना होता है. और बिज़नस के लिए कन्वर्शन जनरेट करके कस्टमर लाना होता है.

ये सभी ज्यादातर किसी कम्पनी की ब्लॉग्गिंग वेबसाइट पर उनके प्रोडक्ट और सर्विसेज को प्रमोट करते है और उनसे संबंधित जानकारी अपने ब्लॉग (Blog Meaning in Hindi) वेबसाइट पर पब्लिश करते है.

ब्लॉगर का क्या काम होता है?

[adinserter block=”1″]

किस भी ब्लॉगर (Blogger Meaning in hindi) को अपने ब्लॉग वेबसाइट को सही चलाने के लिए उने बस आर्टिकल लिख कर पब्लिश करना ही नही होता है बल्कि उन्हें कई बातो का ध्यान रखना पड़ता है जैसे :-

  • आर्टिकल लिखने से पहले कीवर्ड रिसर्च करना.
  • अपने ब्लॉग वेबसाइट का अच्छे से SEO करना.
  • ब्लॉग पोस्ट के लिए उसके संबंधित इमेज का चयन करना.
  • इमेज को अच्छे से एडिट करके उसको कॉम्प्रेस करके वेबसाइट पर उपलोड करना.
  • ब्लॉग पोस्ट में कीवर्ड अच्छे से और सही जगह पे इम्प्लीमेंटेशन करना.
  • अपने ब्लॉग वेबसाइट को यूनिक और अच्छे से डिजाईन करना.
  • ब्लॉग वेबसाइट की स्पीड और एनी समस्याओ को ठीक करना.
  • अपने ब्लॉग वेबसाइट के नाम से फेसबुक और अन्य सोशल मीडिया जैसे प्लेटफार्म पर फैन पेज बनाना.
  • ब्लॉग वेबसाइट के पोस्ट को सभी सोशल मीडिया वेबसाइट पर शेयर करना.
  • अपने टॉप ब्लॉग पोस्ट को नियमित अपडेट करना.
  • कमेंट का जबाव देना.
  • वेबसाइट की सिक्यूरिटी को टाइम टाइम पर देखभाल करना.
  • अपने फील्ड से रिलेटेड ब्लॉग्गिंग वेबसाइट को पढना और वहा से नॉलेज लेना.
  • दुसरे ब्लॉग वेबसाइट पर गेस्ट पोस्ट करना.
  • विज्ञापन, लिंक शोर्त्नेर, स्पेंसोर्शिप और अन्य तरीको के माध्यम से अपने ब्लॉग वेबसाइट को monetize करने का रास्ता ढूँढना.
  • अपने ऑडियंस के साथ लगातार सम्पर्क में रहना.
  • न्यूज़ लैटर सेट करना.

जिस प्रकार किसी भी बिज़नस को आगे बढ़ाने के लिए बहुत सर कामो पर ध्यान रखना पड़ता है और बिज़नस को आगे बढ़ाने के लिए अलग अलग तरीके खोजने पड़ते है ठीक उसी प्रकार किसी भी ब्लॉग्गिंग वेबसाइट को आगे बढने के लिए काफी मेहनत करनी पडती है और वो कैसे आगे बढ़ेगा उसपे ट्रैफिक कैसे आएगा इसके लिए अलग अलग तरीके खोजने पड़ते है.

Blog कितने प्रकार के होते है? किस-किस विषय पर ब्लॉग लिखा जाता है?

पूरी दुनिया भर में लाखो ब्लॉग्गिंग वेबसाइटे है और इन्टरनेट पर ऐसे बहुत सारे विषय है जिनपर रोजाना बहुत सारे ब्लोग्स लिख कर पब्लिश किया जाता है.

लेकिन नए लोग जो ब्लॉग्गिंग फील्ड में आना चाहते है उनके सामने इसी बात को लेकर चिंता रहती है की किस प्रकार का ब्लॉग (Blog Meaning in Hindi) बनाये, किस विषय पर बनाये. उस ब्लॉग वेबसाइट पर किस प्रकार का कंटेंट डाले.

ब्लॉग वेबसाइट को शुरु करने से पहले ही सबसे पहले हमे Niche यानि विषय चुनाव करना पड़ता है. फिर उससे सम्बन्धित जानकारी लिखकर हम अपने वेबसाइट पर डालते है.

अगर हम चाहे तो हम एक या एक से अधिक विषयो पर भी ब्लॉग (Blog Meaning in Hindi) पोस्ट लिख सकते है.

ब्लॉग कई प्रकार के होते है और इसे विषयों के आधार पर हम कई सारे भागो में भी बाट सकते है.

जैसे:-

  • फ़ूड
  • फैसन
  • फिटनेस
  • न्यूज़, समाचार
  • बिज़नस
  • राजनीती
  • खेल-कूद
  • लाइफ स्टाइल
  • फिल्म
  • गेमिंग
  • पर्सनल
  • फैनांस
  • ऑटोमोबाइल
  • पालतू जानवर

यदि आप भी अपना कोई ब्लॉग (Blog Meaning in Hindi) वेबसाइट बनाने की सोच रहे है तो हमारी सलाह मशवरा या राय आपको यही होगी की आप अपने मनपसंद टॉपिक पर लिखना शुरु करे. आप चाहे तो एक ब्लॉग वेबसाइट में एक से अधिक विषय पर भी लिख सकते है.

[adinserter block=”1″]

ब्लॉग वेबसाइट बनाने के लिए क्या चाहिए?

किसी भी ब्लॉग वेबसाइट को शुरु करने से पहले आप यह तय करना पड़ता है की आपको किस फील्ड से रिलेटेड ज्यादा नॉलेज है आप किस विषय पर एक अच्छा कंटेंट या आर्टिकल लिख सकते है.

Niche चुनने के बाद आपको एक प्लेटफार्म यानि एक ब्लॉग (Blog Meaning in Hindi) वेबसाइट की जरुरत पडती है जहा आप अपने आर्टिकल या कंटेंट को पोस्ट कर सके. इसके लिए आपको दो चीजो की जरुरत पड़ती है:-

  1. डोमेन नाम
  2. वेब होस्टिंग या वेब सर्वर

Domain Name :-

डोमेन नाम का मतलब एक वेबसाइट का एड्रेस होता है जिसके माध्यम से कोई भी आपके वेबसाइट को वेब ब्राउज़र के माध्यम से देख सकता है. जैसे की आप अभी इस पोस्ट Blog Meaning in Hindi को hindihelpguide.com डोमेन नाम पर देख पा रहे है.

ठीक ऐसे ही आपको एक एड्रेस जो की आपके निच से संबंधित हो वो खरीदना पड़ेगा जिसे डोमेन नाम कहते है. इसको खरीदने के लिए आपको 99 रुपया से 1500 रुपया तक लग सकता है. ऐसी बहुत सारी वेबसाइटे है जहा से आप डोमेन नाम खरीद सकते है.

जैसे :-

  • Hostinger
  • Bigrock

[adinserter block=”1″]

Web Hosting :-

वेब होस्टिंग इन्टरनेट पर आपको अपनी वेबसाइट पब्लिश करने का स्पेस देती है. डोमेन नाम खरीदने के बाद अआप्को एक वेब होस्टिंग सर्वर की जरुरत पडती है. होस्टिंग खरीदने के लिए आपको मासिक या सलाना कुछ पैसे देने पड़ते है. ये पैसे आपके वेबसाइट के रिक्वायरमेंट्स के हिसाब से होते है. जो निर्भर करता है की आपक कौन सा वेब होस्टिंग प्रोवाइडर का उपयोग करते है. इन्टरनेट पर कई सारे वेब होस्टिंग प्रोवाइडर है.

जैसे :-

  • Bluehost
  • HostGator
  • GreenGeek
  • Hostinger

ऐसे बहुत सारे और भी होस्टिंग प्रोवाइडर है. अगर आप वेब होस्टिंग के लिए पैसे खर्च नही करना कहते है तो आप ब्लॉग्गिंग के लिए गूगल का मुफ्त प्लेटफार्म Blogger.com का उपयोग क्र सकते है. लेकिन इसमें कई सारे limitation है लेकिन जो ब्लॉग्गिंग शुरु कर रहे है उनके लिए यह बहुत ही उपयोगी है.

Difference between Website and Blog?

आप में से कई लोगो के मन में यह सवाल जरुर ही आया होगा की ब्लॉग और वेबसाइट में क्या अंतर है. Blog Meaning in Hindi VS Website Meaning in Hindi.

किसी ब्लॉग और वेबसाइट के बिच मुख्य अंतर यह होता है की ब्लॉग ज्यादा अधिक इन्त्रेक्टिवे होता है किसी वेबसाइट के मुकाबले, जबकि कोई वेबसाइट Static या Dynamic होती है. आसान भाषा में कहे तो सभी ब्लॉग वेबसाइट का ही हिस्सा होती है लेकिन वेबसाइट ब्लॉग नही होती.

  • किसी वेबसाइट का मूल इकाई उसका कंटेंट होता है, जबकि किसी भी ब्लॉग का मूल इकाई पोस्ट होता है.
  • ब्लॉग किसी एक व्यक्ति द्वारा चलाया जाता है लेकिन कोई वेबसाइट कम्पनी द्वारा चलाया जाता है.
  • ब्लॉग को हमेसा अपडेट किया जाता है उस पर नए नए आर्टिकल समय समय पर लिखे जाते है, लेकिन वेबसाइट पर इसकी जरुरत नही पडती है.
  • ब्लॉग किसी विषय से संबंधित जानकारी प्रदान करता है, लेकिन कोई वेबसाइट सर्विस और प्रोडक्ट्स बेचती है.

Conclusion – Blog Meaning in Hindi

[adinserter block=”1″]

1 comment

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *